जन्मदिन विशेषः अजीत वाडेकर की कप्तानी का कमाल... जब भारत ने जीती तीन लगातार सीरीज

बेहतरीन बल्लेबाज और शानदार कप्तान, जिन्होंने हमारे क्रिकेट इतिहास को सबसे यादगार पल दिए. जी हां! बात हो रही है अजीत लक्ष्मण वाडेकर की. आज (बुधवार) उनकी जयंती है. वाडेकर का जन्‍म 1 अप्रैल 1941 में मुंबई (तत्कालीन बंबई) में हुआ था. 2018 में 77 साल की उम्र में उनका निधन हुआ.


अजीत वाडेकर तीन लगातार टेस्ट सीरीज जीतने वाले भारत के पहले कप्तान थे. उन्होंने वेस्टइंडीज को 1970-71 में 1-0 (5) से , इंग्लैंड को 1971 में 1-0 (3) से हराने के बाद भारत दौरे पर इंग्लैंड को 1972-73 में 2-1(5) से हराया था. 1971-1974 के दौरान अजीत वाडेकर ने 16 टेस्ट मैचों में भारत की कप्तानी की. जिनमें से उन्होंने 4 टेस्ट जीते, इतने ही हारे और 8 टेस्ट ड्रॉ रहे.


दो यादगार जीत -


वेस्टइंडीज की धरती पर पहली जीत


1971 के फरवरी और अप्रैल के दौरान भारत ने वेस्टइंडीज में पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेली. इस सीरीज में वाडेकर की कप्तानी में भारत ने पोर्ट ऑफ स्पेन टेस्ट ( सीरीज का दूसरा टेस्ट 6-10 मार्च) 7 विकेट से जीता, जो इंडीज की धरती पर पहली टेस्ट जीत थी. भारत ने चार टेस्ट ड्रॉ करा सीरीज की समाप्ति 1-0 से जीत के साथ की. यह वेस्टइंडीज में भारत की पहली सीरीज जीत रही.


-सुनील गावस्कर का स्वर्णिम आगाज


1970/71 में वेस्टइंडीज जैसी टीम को उसके घर में भारत ने न सिर्फ पहली बार हराया, बल्कि कैरेबियाई धरती पर पहली बार सीरीज पर कब्जा भी जमाया. इसी सीरीज में सुनील गावस्कर ने पदार्पण कर कीर्तिमान रच दिया था. उन्होंने सीरीज के 4 टेस्ट मचों में खेलकर रिकॉर्ड 774 रन (दोहरा शतक सहित 4 शतक और तीन अर्धशतक) बनाए, जो आज भी डेब्यू करते हुए पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में सर्वाधिक रन बनाने का विश्व रिकॉर्ड है.



 







 






Popular posts